हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन की कवरेज करने पहुंचे Aaj Tak के रिपोर्टर और कैमरामैन को किसानों ने भगाया, बोले- ये बिकाऊ चैनल है, फर्जी खबरें दिखा कर लोगों को गुमराह करता है.

कृषि कानून (Farms Law 2020) को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ पंजाब और हरियाणा के सैकड़ों किसान दिल्ली में धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर अपनी मांगों को लेकर डटे सैकड़ों आंदोलनकारी किसान ‘दिल्‍ली चलो’ मार्च निकाल रहे हैं. वही इस मार्च को रोकने के लिए सरकार ने अपने बॉर्डर सील कर दिए हैं. इसके अलावा भारी पुलिस फोर्स भी तैनात किए गए हैं।

आपको बता दें एक तरफ कोरोना वायरस का हाहाकार है, तो वहीं दूसरी तरफ भीषण सर्दी में केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ सैकड़ों किसानों का प्रदर्शन जारी है‌, जिसका आज तीसरा दिन है। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे किसानों ने बीती रात सिंघु बॉर्डर पर ही गुजारी है।

इसके अलावा आज रविवार सुबह आंदोलन कर रहे पंजाब और हरियाणा के किसानों ने बैठक भी की इस दौरान किसानों ने बैठक में ये फैसला लिया गया कि, वे वहां से नहीं हटेंगे और अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे। वही पुलिस लगातार किसानों के संपर्क में है और उन्हें समझाने का भरसक प्रयास कर रही है, लेकिन किसान अपनी मांग पर अड़ें हुए हैं।

वही इसी बीच हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर अपनी मांगों को लेकर डटे सैकड़ों किसानों को कवर करने तमाम टीवी चैनल आ रहे है। और किसानों से बात चित कर उनकी मांगे को मीडिया के जरिये सरकार तक पहुंचने का काम कर रहे है। आपको बता दें अपनी मांगों को लेकर डटे किसानों का केंद्र सरकार के साथ-साथ गोदी मीडिया भी गुस्सा फुट चुका है।

आपको बता दें सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में आंदोलन कर रहे किसान आज तक के रिपोर्टर को खदेड़ते नज़र आ रहे है। दरअसल किसानों के आंदोलन की कवरेज करने पहुंचे आज तक के रिपोर्टर और कैमरामैन को घेरकर गुस्सा जाहिर किया।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में देखा जा सकता है कि आंदोलन कर रहे किसान आज तक न्यूज़ चैनल का विरोध कर रहे हैं। और इसमें वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गोदी मीडिया के खिलाफ नारेबाजी करते दिखाई दे रहे है।

वीडियो में प्रदर्शनकारी किसान कह रहे हैं कि झूठी और फर्जी खबरें दिखाने के लिए गोदी मीडिया को शर्म आनी चाहिए। बढ़ते विरोध को देखते हुए रिपोर्टर और कैमरामैन को वहां से निकल कर जाना ही पड़ा।