सासाराम : भारत युवाओं और कर्मयोगियों का धरती है जहाँ के युवा कर्मठता के साथ हर कार्य को पूरा करते हैं ऐसे ही कर्मयोगी थे स्वामी विवेकानंद जी जिन्होंने अपने कर्म और संस्कारों से भारतीय दर्शन को विश्व स्तरीय बनाया।

जिसका लोहा पूरा विश्व मानता है आज भारत के सभी यवाओं को स्वामी जी के पद चिन्हों पर चलने की जरूरत है उक्त बातें गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो एम एम वर्मा ने प्रबंधन संकाय, एन एस एस और पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित स्वामी विवेकानंद जी की जयंती समारोह को युवा दिवस के रूप में मानते हुए कहा।

वहीं कार्यक्रम में अतिथि वक्ता के रूप में पधारे विश्व विद्यालय के कुलसचिव डॉ राधेश्याम जयसवाल जी ने कहा कि स्वामी जी का जीवन अपने आप में एक दर्शन शास्त्र है जिसे हर युवा को आत्मसात करना चाहिए कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ अमित मिश्रा ने बताया कि भारत का हर युवा विवेकानंद जी के दर्शन को पढ़कर अपना और अपने संस्कृति का विकास कर सकता है

गौरतलब है कि महज किशोरावस्था का बालक पूरे विश्व को यह सोचने पर मजबूर किया कि भारतीय संस्कृति से बड़ा किसी अन्य देश की संस्कृति नही है। कार्यक्रम में प्रबंधन संकाय के डीन प्रो आलोक कुमार और परीक्षा नियंत्रक प्रो कुमार आलोक प्रताप ने भी सभी छात्रों को संबोधित कर स्वामी जी के चिंतन को आत्मसात करने की सलाह दी।

 

इस अवसर पर पत्रकारिता विभाग द्वारा प्रबंधन विभाग और अन्य विभागों के बीच एक सवांद और पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन कराया गया जिसमें जज की भूमिका में एन एस एस के कोऑर्डिनेटर सह अस्सिस्टेंट प्रोफेसर कुमुद रंजन, असिस्टेन्ट प्रोफेसर मुकुंद कुमार, असिस्टेन्ट प्रोफेसर वरुण सिंह, अस्सिस्टेंट प्रोफेसर फहमीन हुसैन, अस्सिस्टेंट प्रोफेसर पम्मी कुमारी रही।

आयोजित संवाद प्रतियोगिता में पत्रकारिता विभाग के निशांत कुमार, आन्या तिवारी और सौरभ दुबे को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर चयनित किया गया वहीं पेंटिंग में आर्यन बाबू का प्रथम स्थान पर चयन किया गया।

कार्यक्रम का संचालन असिस्टेन्ट प्रोफेसर पूजा कौशिक एवं छात्र सौरभ सह हर्षिता ने किया इस मौके पर प्रतियोगिता में चयनित अभ्यर्थियों को विश्वविद्यालय के सचिव श्री गोविंद नारायण सिंह एवं एम डी त्रिविक्रम नारायण सिंह ने डिजिटल संदेश के माध्यम से चयनित छात्रों को बधाई दी।

कार्यक्रम में असिस्टेंट अकैडमिक डायरेक्टर सुदीप कुमार डॉ अभिषेक श्रीवास्तव, डॉ प्रमोद कुमार, अस्सिस्टेंट प्रोफेसर निखिल निशांत हिमांशु शेखर सहित प्रबंधन, आई टी, पत्रकारिता विभाग के सभी छात्र उपस्थित थे।