बिहार के सभी स्कूल, कॉलेज 12 अप्रैल तक बंद रहेंगे. सभी स्कूल और कॉलेज बंद रखने का क्राइसिस मैनजमेंट ने लिया फैसला लिया है. कोरोना क्राइसिस मैनजमेंट ग्रुप की बैठक में लिया गया फैसला.  इसके अलावे शादी समारोह में 250 लोग और श्राद्धकर्म में 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति दी गयी है.

बढ़ते कोरोना को रोकने के उद्देश्य से सीएम ने अधिकारियों को इस प्रकार का आदेश दिया है. कोरोना की दूसरी लहर के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सीएम नीतीश ने आज हाईलेबल मीटिंग की. जिसमें क्राइसिस मैनेजमेंट के अधिकारी, डीजीपी समेत स्वास्थ्य विभाग के कई बड़े अधिकारियों ने हिस्सा लिया.

उच्च स्तरीय बैठक में सीएम नीतीश ने सलाह देते हुए कहा कि बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. बढ़ते मामले को ध्यान में रखते हुए पूरे राज्य में अधिक से अधिक टेस्टिंग कराएं. आरटीपीसीआर जांच को और बढ़ाए. जितनी अधिक जांच होगी, कोरोना संक्रमण के मामलों का पता चलेगा. कोरोना से लोगों को नुकसान नहीं पहुंचे, इसके लिए अलर्ट और एक्टिव रहना होगा.

सीएम नीतीश ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि सचेत रहने की जरूरत है, लोग सचेत रहेंगे तो कम से कम नुकसान होगा. सार्वजनिक आयोजनों को कुछ दिनों के लिए स्थगित रखा जाए.  कोविड-19 के लिए तैयार किये गए अस्पतालों में पूरी तैयारी रखें. कोविड-19 टीकाकरण की संख्या बढ़ायें ताकि अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण हो सके. उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के प्रति सभी सजग रहे, कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करे एवं मास्क का प्रयोग जरूर करें.