पन्ना:-अतिथि शिक्षकों की मांग का समर्थन करते हुए प्रदेश सरकार से उनका शोषण बंद करने की अपील की है।
जिला कांग्रेस कमेटी पन्ना प्रवक्ता रामवीर तिवारी ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार अतिथि शिक्षकों के साथ छलावा कर रही है। प्रदेश के अतिथि शिक्षक 2008 से लगातार अल्प मानदेय में कार्य कर रहे हैं। इस बढ़ती महंगाई में उन्हें कम मेहनताना देकर उनका आर्थिक शोषण किया जा रहा है।

श्री तिवारी ने कहा की अतिथि शिक्षकों का जीवन 14 वर्ष काम करने के बाद भी अंधकारमय है। 14 वर्ष में तो भगवान राम का भी वनवास समाप्त हो गया था लेकिन अतिथि शिक्षकों का शोषण अब तक समाप्त नहीं हो सका, जो बहुत ही खेद का विषय है। श्री तिवारी ने सरकार से मांग की है कि ऐसे अतिथि शिक्षक जो 5 वर्ष कार्य कर चुके हैं एवं B.Ed D.Ed के के साथ पात्रता परीक्षा में उत्तीर्ण हैं, उन्हें सरकार अति शीघ्र नियमित करे। अतिथि शिक्षकों का मानदेय भी केंद्र एवं अन्य राज्यों की भांति सम्मानजनक दिया जाए।

श्री तिवारी ने कहा की वर्तमान समय में प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में इस सत्र अतिथि शिक्षक भर्ती का आदेश तो कर दिया गया किंतु उनका पोर्टल खोला नहीं गया जिससे उनकी ज्वाइनिंग आज दिनांक तक पोर्टल पर फीड न हो पाने से वे चिंतित हैं। उनसे शपथ पत्र लेकर काम कराया जा रहा है कि भुगतान न होने की स्थिति में मुझे उन्हें आपत्ति नहीं रहेगी। इस तरह एक शिक्षक शिक्षक की मजबूरी का मजाक उड़ाया जा रहा है, जो दुखद है।

अतः प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों की अतिथि शिक्षकों की जॉइनिंग पोर्टल पर शीघ्र कराई जाए। श्री तिवारी ने भाजपा के केंद्रीय मंत्री की आलोचना करते हुए कहा कहा कि अतिथि शिक्षकों की बात करने वाले श्रीमंत सिंधिया जी अतिथि शिक्षकों के शोषण को देखकर भी चुप क्यों हैं? सड़कों पर उतरने की जगह वातानुकूलित विमान यात्रा में व्यस्त हैं।

श्री तिवारी ने कहा भाजपा सरकार को चाहिए कि अतिथि शिक्षकों के हितों के लिए एक नीति बनाए और अतिथि शिक्षकों का शोषण बंद कर उन्हें न्याय दिलाए। प्रदेश के विद्यालयों में शिक्षकों के पद भारी संख्या में खाली पड़े हैं, उन पदों के विरुद्ध पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण अतिथि शिक्षकों को वरीयता देकर भरा जाए ताकि प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में सुधार हो सके।