पूरी दुनिया में कोरोना महामारी है भारत भी इससे अछूता नहीं है। लेकिन भारत की सरकार और उनकी पार्टी कोरोना महामारी से लड़ने के बजाय चुनावी तैयारी में जुटी है। ऐशा ही एक नजारा उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर आज दिखा। कांग्रेस के नेता जितिन प्रसाद आज पियूष गोयल में मौजूदगी में बीजेपी के शामिल हो गए।

इसी को लेकर अब सोशल मीडिया पर जितिन प्रसाद और बीजेपी पर तंज कसे जा रहे है। कांग्रेस नेता अलका लांबा ने ट्वीट करते हुए कहा ” सत्ता के लालचियों की परवाह मत कीजिए,संघर्ष करना इनके खून में ही नही है,
कुछ युवा नेताओं ने अपने स्वर्गीय पिता की भी लाज नही रखी जिन्होंने कांग्रेस में रहते हुए अंतिम सांस तक संघी विचारधारा से लड़ते हुए दुनियां से गए आज उनके पुत्र उसी संघी शाखा का हिस्सा बनने जा रहे हैं, लानत है।

आपको बता दे की जितिन प्रसाद के पिता कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में से एक थे। साल 2001 में जितिन कांग्रेस के सचिव बने थे उसके बाद 2004 में पहली बार सांसद बने थे फिर 2009 में भी जीतकर आए लेकिन 2014 और 2019 में करारी हार का सामना करना पड़ा था।