उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के असोहा इलाके के बबुरहा गांव के बाहर बुधवार को दलित बिरादरी की तीन युवतियां बेसुध मिली. अस्पताल ले जाने पर उनमें से दो को मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. लड़कियों के पोस्टमार्टम की रिपोर्ट का इंतजार है. उसी के आधार पर मौत का कारण स्पष्ट किया जा सकेगा.

वही इसपर उन्नाव के पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने बताया कि बबुरहा गांव में एक ही परिवार की 15, 14 और 16 साल की तीन लड़कियां दोपहर करीब तीन बजे जानवरों के लिए चारा लेने घर से निकली थीं. देर शाम तक वापस ना आने पर परिजनों ने उनकी तलाश की तो वे तीनों गांव के बाहर खेत में मिली और वे एक दुपट्टे से बंधी हुई थी.

सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों लड़कियों को पास के ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने दो को मृत घोषित कर दिया. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि एक अन्य लड़की की हालत नाजुक है.

उसे गंभीर हालत में उन्नाव जिला अस्पताल लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे कानपुर रेफर कर दिया गया. डॉक्टरों के मुताबिक, प्रथम दृष्टया यह मामला जहर खाने का लग रहा है. मौके पर झाग मिलने की भी जानकारी मिली है.