तूफान इडा के प्रभाव से न्यूयॉर्क शहर में जबर्दस्त बारिश हुई और क्षेत्र में बाढ़ में कम से कम 41 लोगों की मौत हो गई. साथ ही बाढ़ के पानी में वाहन डूब गए और घरों में पानी भर गया. बुधवार देर शाम न्यूयॉर्क शहर और प्रांत के बाकी हिस्सों में आपातकाल की स्थिति घोषित कर दी गई. समाचार एजेंसी AFP के अनुसार 50 वर्षीय मेटोडिजा मिहाजलोव ने कहा- ‘मैं 50 साल का हूं और मैंने कभी इतनी बारिश कभी नहीं देखी. यह जंगल में रहने जैसा था. यह अविश्वसनीय है. इस साल सब कुछ बहुत अजीब है.

मैनहट्टन, द ब्रोंक्स और क्वींस सहित न्यू जर्सी और न्यूयॉर्क में बाढ़ के चलते अहम सड़कें बंद हो गईं.कारें डूब गईं और सैकड़ों लोगों को बचाने के लिए अग्निशमन विभाग आगे आया. गवर्नर फिल मर्फी ने बतायान्यू जर्सी में कम से कम 23 लोगों की मौत हो गई. उन्होंने कहा, ‘इन मौतों में से अधिकांश ऐसे थे जो अपने वाहनों में फंस गए थे.’

सड़कों पर कचरा बह रहा

न्यूयॉर्क के एफडीआर ड्राइव और ब्रोंक्स रिवर पार्कवे बुधवार देर शाम तक जलमग्न थे. सबवे स्टेशनों और पटरियों पर बाढ़ का इतना पानी आ गया कि मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्टेशन अथॉरिटी ने सभी सेवाओं को निलंबित कर दिया. ऑनलाइन पोस्ट किए गए वीडियो में मेट्रो सवार पानी से भरी कोच में सीटों पर खड़े दिखाई दे रहे हैं.

ब्यूरो चीफ : नर्मदेश्वर प्रसाद चौधरी की रिपोर्ट