ब्यूरो चीफ : नर्मदेश्वर प्रसाद चौधरी की रिपोर्ट

आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल को लेकर अब काफी चर्चा हो रही है। टीम इंडिया के कई पूर्व दिग्गज इस मैच के लिए टीम इंडिया की क्या प्लेइंग इलेवन होनी चाहिए या फिर गेंदबाज का कांबिनेशन कैसी होनी चाहिए इसे लेकर अपनी राय दे रहे हैं। क्रिकेट पंडितों का मानना है कि, पिच के हिसाब से टीम इंडिया चार तेज गेंदबाज और एक स्पिनर या फिर तीन तेज गेंदबाज और दो स्पिनर के साथ मैदान पर उतर सकती है। अब इस मैच को लेकर वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर माइकल होल्डिंग ने कहा है कि, अगर भारत प्लेइंग इलेवन में सिर्फ एक स्पिनर को खिलाने का फैसला करता है तो आर अश्विन को टीम में जगह मिल सकती है। हालांकि टीम इंडिया के लिए प्लेइंग इलेवन का चयन करना आसान तो नहीं होने वाला है।

माइकल होल्डिंग ने साफ तौर पर कहा कि, अगर भारत प्लेइंग इलेवन में सिर्फ एक स्पिनर को खिलाने का फैसला करता है तो वो आर अश्विन होंगे। द टेलीग्राफ से बात करते हुए होल्डिंग ने ये बात कही। उन्होंने कहा कि, इंग्लैंड में निश्चित तौर पर कंडीशन की काफी अहम भूमिका रहने वाली है, लेकिन जिस तरह की गेंदबाजी आक्रमण टीम इंडिया के पास है उससे उन्हें काफी फायदा मिलने वाला है। अगर वहां का मौसम पूरी तरह से साफ रहता है तो उस स्थिति में वो दो स्पिनर के साथ मैदान पर उतर सकते हैं क्योंकि इस टीम के पास ऐसा विकल्प है। वहीं दूसरी तरफ अगर पिच पर नमी नहीं होगी तो टीम इंडिया में एक ही स्पिनर होगा। एक स्पिनर जाहिर तौर पर आर अश्विन होंगे।

होल्डिंग ने कहा कि, आर अश्विन बल्ले से भी टीम के लिए अपना योगदान दे सकते हैं। साउथैंप्टन के एजिस बाउल की पिच पर टर्न मिलती है और इससे टीम इंडिया को फायदा होगा। हालांकि टीम इंडिया के पूर्व स्पिनर मनिंदर सिंह ने कहा कि, टीम इंडिया को इस मैच में दो स्पिनर और तीन तेज गेंदबाज के साथ मैदान पर उतरना चाहिए।