अनिल अंबानी एक बार फिर चर्चा में है और वह भी कर्ज के कारण। दरअसल, अंग्रेजी वेबसाइड बिजनेस इनसाइडर डॉट इन (www.businessinsider.in) की रिपोर्ट के मुताबिक, अनिल अंबानी की तीन कंपनियों पर कथित तौर पर बैंको से धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया गया है। वहीं, कर्ज की राशि भी माल्या ने जितना कर्ज लिया था, उससे लगभग दस गुना अधिक है।

यह लोन एमाउंट 86,188 करोड़ रुपए बताई जा रही है। इतना ही नहीं, ट्विटर पर इसी वजह से अनिल अंबानी ट्रेड में है। रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि अनिल अंबानी की तीन कंपनियों ने क्रमशः स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और इंडियन ओवरसीज बैंक से कर्ज लिया और वह लौटाया नहीं।

अब बैंक अनिल अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस ग्रुप इकाइयां, जिनमें रिलायंस कम्यूनिकेशन, रिलायंस इंफ्राटेल और रिलायंस टेलीकाम शामिल हैं, पर कानून कार्रवाई की तैयारी कर रही हैं। वहीं, सोशल मीडिया में सुचेता दलाल, जिन्होंने हर्षद मेहता स्कैम का खुलासा किया था। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर एक सवाल लिखा है कि क्या कोई अनुमान लगा सकता है कि भारत का सबसे बड़ा कॉरपोरेट डिफॉल्टर कौन है? और उसके खिलाफ सरकार की तरफ से कोई एक्शन भी नहीं लिया गया है।