अंतरराष्ट्रीय शूटर वर्तिका सिंह ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, उनके निजी सचिव विजय गुप्ता और एक अन्य शख्स पर राष्ट्रीय महिला आयोग का सदस्य बनाने के नाम पर 25 लाख रुपए की मांग करने का आरोप लगाते हुए कोर्ट में केस दर्ज कराया है।

बीजेपी की फायरब्रांड नेता और मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी पर महिला आयोग का सदस्य बनवाने के नाम पर 25 लाख रुपये की ठगी का आरोप लगा है।

ये आरोप अंतर्राष्ट्रीय शूटर वर्तिका सिंह ने लगाते हुए अदालत का दरवाजा खटखटाया है। हालांकि, वर्तिका ने ईरानी के साथ जिन दो लोगों को आरोपी बनाया है उनमें से एक ने उनके खिलाफ अमेठी के थाने में केस दर्ज कराया है।

जनसत्ता के अनुसार, वर्तिका सिंह ने एमपी-एमएलए कोर्ट में केस दायर कर स्मृति ईरानी, उनके निजी सचिव विजय गुप्ता और डॉ.रजनीश सिंह पर राष्ट्रीय महिला आयोग का सदस्य बनाने के नाम पर 25 लाख रुपए की ठगी का आरोप लगाया है।

वर्तिका सिंह के आवेदन पर सुनवाई के लिए एमपी-एमएलए कोर्ट ने 2 जनवरी की तारीख तय की है। उस दिन होने वाली सुनवाई में कोर्ट तय करेगा कि ये मामला उसके अधिकार क्षेत्र में आता है या नहीं।

शूटर वर्तिका सिंह का आरोप है कि केंद्रीय मंत्री के करीबी लोगों ने उसे एक फर्जी पत्र जारी किया, जिसमें उन्हें राष्ट्रीय महिला आयोग का सदस्य नियुक्त करने की बात लिखी थी।

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री ईरानी के दो सहयोगियों विजय गुप्ता और रजनीश सिंह ने शुरू में उनसे 1 करोड़ रुपये की मांग की थी और फिर बाद में राशि को घटाकर 25 लाख रुपये कर दिया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि इनमें से एक ने उनसे अश्लील तरीके से बात की थी।

वहीं, वर्तिका द्वारा आरोपी बनाए गए विजय गुप्ता ने 23 नवंबर को शूटर और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ अमेठी के मुसाफिरखाना थाने में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें उनके खिलाफ निराधार आरोप लगाकर उनकी छवि को खराब करने की कोशिश का आरोप लगाया गया था।

पुलिस ने गुप्ता की शिकायत पर शूटर के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज की थी। हालांकि वर्तिका सिंह का कहना है कि उनके खिलाफ ये एफआईआर तब की गई, जब उन्होने इन लोगों को भ्रष्टाचार उजागर करने की धमकी दी थी।