लार्ड कर्जन ने एक सपना देखा था उसे अब भारत की जनता को पूरा करना चाहिए. जब वो भारत के वायसरॉय थे तो उनको लगता था कि भारत में कांग्रेस रहा तो ये यहाँ के लोगों को एकजुट करके अंग्रेजों को भगा देंगे. इसलिए लार्ड कर्जन ने कहा था हमसे जितना हो पायेगा कांग्रेस को ख़त्म करने की कोशिश करेंगे. कांग्रेस मुक्त का नारा भी पहली बार इस देश में अंग्रेजों ने ही दिया था।

लार्ड कर्जन के बाद नरेन्द्र मोदी पहले ऐसे भारतीय नेता हैं जो अंग्रेजों के सपने को पूरा करने के लिए कांग्रेस मुक्त का नारा दिया। वैसे अब वक्त आ गया है अंग्रेजों के सपने को साकार किया जाए। दो दिन पहले उत्तर प्रदेश में आठ किसानों की हत्या एक केंद्रीय मंत्री के काफिला से कर दिया गया. लेकिन मुख्य विपक्षी पार्टी हाथ पर हाथ धरे बैठी रही इससे अच्छा है कि उस मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस को अब खत्म ही कर देना चाहिए।
आज देश में बेरोजगारी 45 साल के उच्चतम स्तर पर है लेकिन मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस हाथ पर हाथ धरे AC रूम में बैठी है और लोगों को दिखाने के लिए बेरोजगारी पर गढ़ियाली आंसू बहा रही है इससे अच्छा है कि उस कांग्रेस को अब खत्म ही कर देना चाहिए।

देश पर पचास साल से अधिक शासन करने वाली कांग्रेस आज बेरोजगारी, भुखमरी, किसानों की आत्महत्या, महिला सुरक्षा पर लड़ाई लड़ना छोड़ आपस में ही सत्ता की लड़ाई लड़े उससे अच्छा है कि उस कांग्रेस को अब खत्म ही कर देना चाहिए। आज देश की अर्थव्यस्था सबसे निचले स्तर पर है. अपराध और महंगाई चरम सीमा पर लेकिन विपक्ष सड़कों पर आन्दोलन करने के बजाय एक प्रेस कांफ्रेंस और ट्विटर पर ट्वीट करके अपनी से राजनीति चला रही है मुख्य विपक्षी पार्टी की जिम्मेदारी निभा रही है इससे अच्छा है कि उस कांग्रेस को अब खत्म ही कर देना चाहिए।

कहा जाता है लोकतांत्रिक देश में जितनी जिम्मेदारी सत्ताधारी पार्टी की होती है उससे अधिक जिम्मेदारी विपक्ष की होती है. सरकार की योजनाओं पर विपक्ष चर्चा करें गलत योजानों का विरोध करें। विपक्ष की जिम्मेदारी होती है उसके बारे में जनता को बताये लेकिन आज विपक्ष सड़कों पर दिखाई ही नहीं देती। आखिरी बार कांग्रेस इस देश को बंद कब करवाया। कब सड़कों पर विरोध किया शायद जनता भी भूल गई होगी इससे अच्छा है कि उस कांग्रेस को अब खत्म ही कर देना चाहिए। लार्ड कर्जन के सपने को पूरा किया जाए।

जब विपक्ष सड़क पर उतर कर विरोध नहीं कर सकती फिर विपक्ष का क्या मतलब। विपक्ष तो ऐसा होना चाहिए कि सरकार कोई फैसले ले तो उसके मन में एक डर होना चाहिए कि कुछ भी कमी रही तो विपक्ष सड़कों पर उतर जाएगा। देश का चक्का जाम कर देगा। लेकिन वर्तमान सरकार को पता है विपक्ष सड़कों पर उतर नही पाएगी
इससे अच्छा है कांग्रेस को खत्म कर देना चहिए।